कोरोना मरीजों को अशुद्ध औद्योगिक ऑक्सीजन देने वाले म्यूकोसल माइकोसिस बीमारी को आमंत्रण दे रहे हैं।

Share with:


औद्योगिक ऑक्सीजनेशन के लिए जरूरी मापदंड की अनदेखी करते हुए कोरोना से ठीक होने वाले मरीजों पर भारी गिरावट आई। मेडिकल ऑक्सीजन की शुद्धता 99.6% है जबकि औद्योगिक की 92% है। मेडिकल ऑक्सीजन में प्रेशर बना रहता है, इंडस्ट्रियल में नहीं. सिलेंडर व नोजल की सफाई में लापरवाही से भी फंगल इंफेक्शन हो गया। दोनों तरंगों में उपचार समान था लेकिन अंतर चिकित्सा और औद्योगिक ग्रेड ऑक्सीजन का था

Share with:


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *